नमस्ते !!

आगए !? अब आए हो तो कुछ पढ़ के ही जाना !

Audio Visual के इस डिजिटल युग में पढ़ने वाले भी हैं। और सिर्फ़ किताबें नहीं इंटरनेट पे भी लोग ज़रूर पढ़ेंगे, और हिंदी में पढ़ेंगे। इस सोच के साथ मैं शुरू कर रहा हूं soundpitara.com

 

क्या नया करूंगा?
ऐसा है, पढ़के देखना कुछ तो अलग होगा।
पर होगा क्या?
सब कुछ
Sound – आवाज़
Pitara – पोटली
इस पोटली में सबकुछ है,
हंसी, खुशी, मस्ती, मौजा ही मौजा,
उम्मीद, inspiration, जागरूकता,
दिल की बात,
काम की बात,
कल की बात,
आज की बात,
एंवाई बात,
फ़ालतू बात,
दूध भात,
मच्छी भात!?
नहीं है मैं vegetarian हूं.

अगर आपको अंदाज़ा नहीं लगा इस पोटली में क्या खिचड़ी पकेगी,
तो फ़िकर नॉट जनता,
जो मिलेगा दिल से सर्व होगा,
स्वाद की गारंटी है,
I hope आपका टेस्ट अच्छा होगा,

तो भईया बिना भटके बता दूं,
इस वेबसाइट पे जो छपेगा,
दिल के पिटारे से गरमागरम निकलेगा,
सीधे चाशनी से होकर, आप तक पहुंचेगा।

बस आप पढ़ते रहना,
पसंद आए तो शेयर कर देना,
भूल चूक माफ़ मत करना,
मेल पे सुधरने का मौक़ा देना।

सुधारना आता है मुझे।

ॐ नमः शिवाय।

Poetry (कविता)

जब शब्द आपके कानों में, मिसरी की तरह घुल जाएँ, हर बोल आपमें एक नया एहसास जगाएँ. तो समझो किसी ने कुछ ऐसा लिखा है, जिसकी तारीफ़ तो बनती है.

Comic Strip (कॉमिक्स)

कभी कभी कुछ चीज़ें अलग तरह से बोली जानी चाहिए. और दिख जाए तो जल्दी समझ आती है. अपना बंदा निखिल है, एक नम्बर का कलाकार.

Wisdom Words (पते की बात)

कभी कभी ज़िंदगी में स्पीड ब्रेकर की तरह कुछ इमोशंज़ आपकी स्पीड ही स्लो कर देते हैं. आप लाख कोशिश करें एसकलेटर काम ही नहीं करता, लेकिन किसी के कुछ शब्द ही आपके लिए प्रॉपलेंट का काम करते हैं.

Entertainment (फ़ुल ऑन धमाल)

लाइफ़ में entertainment नहीं है तो वो लाइफ़ बिना बैटरी का मोबाइल फ़ोन है. आपकी बैटरी को चार्ज करने के लिए कुछ ना कुछ entertainment मिलता रहेगा. आप देख लो कितने mah की बैटरी लगी है आप में.

Education (शिक्षा)

Education सिस्टम को कोसने से फ़ुर्सत मिल जाए तो, क्यूँ ना ख़ुद ही एक ऐसा सिस्टम बन जाएँ, की अपने लेवल पर ज़रूरत के हिसाब से जरूरतमंद को, किसी ना किसी तरीक़े से एजुकेट किया जाए.

Food and Travel (खाना और घूमना)

खाना और घूमना जिसे पसंद है, उसके लिए ज़िंदगी बड़ी आसान हो जाती है, क्यूँकि वो कहीं भी किसी भी हालात में ख़ुद को एडजस्ट कर सकता है. खाना कैसा भी हो, जगह कैसी भी हो, ज़िंदगी हर सूरत में गुलज़ार ही लगती है.

Let’s Start a Conversation